Real love story in Hindi | Top 5 Best Real love story in Hindi 2020

Real love story in Hindi

1.आए हो मेरी जिंदगी में तुम बहार बन के : Real love story in Hindi

मेरी जिंदगी खुली किताब की तरह थी। उस किताब में लोगों के लिए प्यार और हमदर्दी के सिवा कुछ नहीं था। मैं अपने दोस्तों के लिए कुछ भी कर सकती थी और मेरी इस आदत ने मुझे परेशानी में डाल दिया था। एक वक्त ऐसा भी आया जब मैं बिल्कुल अकेली हो गई थी। मैं उन दिनों 12वीं के एग्जाम की तैयारी कर थी, जब तुम मेरी लाइफ में आए थे। मैं बहुत टूट चुकी थी।

हर कोई मुझे बातें सुनाता था, जबकि मेरी कोई गलती नहीं थी। मैं तो बस अपनी दोस्त की जिंदगी बचा रही थी और सबने मुझको ही गलत समझ लिया था। अपनी पर्सनल दुश्मनी निकालने के लिए सभी ने मुझे बेवजह बदनाम करना चाहा। उस वक्त तुमने मेरा हाथ थामकर मुझे सहारा दिया। तुमने मुझे उस मुश्किल दौर से निकाला था। हालांकि, मैं इतनी बार धोखा खा चुकी थी कि मैं तुम पर भी भरोसा नहीं कर पा रही थी। तुम मुझे समझाने की कोशिश करते लेकिन मैं हमेशा तुमसे दूर ही रहती। मुझे बहुत देर बाद अहसास हुआ था तुम्हारे प्यार का। तुम मुझसे कहते थे कि मैं तुम्हारा हाथ कभी नहीं छोड़ूंगा और तुमने ऐसा किया भी।

तुम आज भी मेरे साथ हो। तुम्हारे घरवाले जानते हैं कि मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड हूं और बहुत ही जल्द हमारी शादी होने वाली है। तुम मुझे अपने पापा से मिलवाने वाले हो यह सोचकर मैं काफी एक्साइटेड हूं। मैं भी उनसे मिलना चाहती हूं। मेरी जिंदगी में आने के लिए और मुझे अपनाने के लिए तुम्हारा शुक्रिया अमित। आज के दिन मैं तुमसे बस यही कहना चाहती हूं ‘आए हो मेरी जिंदगी में तुम बहार बन के’…आई लव यू

2. आज भी याद है वो दिन जब पहली बार हम मिले थे : Real love story in Hindi

आज भी याद है वो दिन जब पहली बार हम मिले थे। कितनी अजीब बातें की थीं न मैंने उस दिन। फिर दो दिन बाद जब मुझे अहसास हुआ कि मैं कुछ मिस कर रही हूं, तब मैंने मेसेज के जरिए तुम्हें बताया था कि आई मिस यू। इस पर तुमने भी बड़े स्मार्टली अंदाज में रिप्लाई किया था कि चलो लगभग 52 घंटे बाद तुम्हें अहसास तो हुआ कि तुम मुझे मिस कर रही हो। बस कुछ इसी तरह हमारी बातों का सिलसिला शुरू हुआ। कभी तुम्हारे प्रपोजल को एक्सेप्ट करती तो कभी मना कर देती लेकिन मना करने के बावजूद तुम यह बात जानते थे कि प्यार मैं तुम से ही करती हूं। जब तुमने पहली बार मेरा हाथ पकड़ा था तो मैं दो दिन तक उस फीलिंग में खोई रही। हम कमिटेड हो गए और रिलेशनशिप में आ गए। कितना अच्छा था वो वक्त जब रोज हम एक-दूसरे से घंटों बात किया करते थे। स्पेशल ओकेजन में गिफ्ट देना और डेट पर घुमाने ले जाना, सब कुछ कितना स्पेशल था मेरे लिए लेकिन ये खुशियां सिर्फ कुछ ही पल की मेहमान थीं। मेरा तुमसे दूर जाना हम दोनों के लिए बहुत मुश्किल था लेकिन तुम यह बात जानते हो कि मैं अपनी मां को कितना प्यार करती हूं इसलिए इस रिलेशनशिप से मुझे अलग होना पड़ा। हो सके तो मुझे माफ कर देना मैं भले ही तुमसे दूर रहूं लेकिन प्यार हमेशा तुमसे ही करती रहूंगी।

तुमसे दूर जाने का गम मुझे हमेशा सताएगा

3. मैं 11वीं में पढ़ता था : love story in Hindi

मैं 11वीं में पढ़ता था। रोज स्कूल जाता था लेकिन स्कूल के दोस्तों से ज्यादा घुली- मिला नहीं था। मेरे स्कूल में 9वीं क्लास में एक लड़की पढ़ती थी, जो रोज किसी न किसी बहाने से मेरी क्लास में आती थी। कभी अपनी कॉपी चेक करवाने, तो कभी बुक हाथ में लिए हमारे टीचर से कुछ पूछने के बहाने क्लासरूम में आ जाती थी। आते-जाते, मुझे हल्का सा मुस्कुराते हुए देखती थी। एक-दो बार उसने ऐसा ही किया तो मैंने उस पर गौर करना शुरू किया। अगली बार क्लासरूम में वो आई और चिर परिचित अंदाज में मुस्कुराते हुए मेरे पास खड़ी हो गई। उसने मुझसे कहा, ‘आपके पास नाइंथ क्लास के नोट्स है? आप मुझे दे सकते हैं? उस दिन हमारी पहली बातचीत के बाद से वो मुझे पसंद आने लगी थी।

अगली एक-दो मुलाकातों के बाद मुझे उससे प्यार हो गया। जिस दिन भी स्कूल में उससे बात होती थी, उस रात वो मेरे सपने तक में आ जाती थी। ऐसा कई बार हुआ। इसके करीब एक महीने बाद उसने मुझे एक लेटर दिया, जिसके आखिर में लिखा था ‘आई लव यू तुम्हारी aaaaa।’ इस पर मैंने भी उसे एक लेटर लिखा जो मेरा पहला प्रेम पत्र था। उस समय सुबह घने कोहरे के बीच हम एक साथ स्कूल जाया करते थे और रास्ते भर बातें करते रहते। स्कूल पहुंचकर हम बगीचे में फूलों पर चमकती ओस की बूंदों से खेला करते थे। अब ये ठंड तुमसे जुड़ी यादों की गर्माहट बढ़ा रही है।

ओस की बूंदों में तुम्हारी यादें

4. मेरी लाइफ में पहला क्रश तब हुआ : love story in Hindi 2020

मेरी लाइफ में पहला क्रश तब हुआ जब मैं फर्स्ट ईयर में था। मैंने फिजिक्स की कोचिंग जॉइन की थी। पहले दिन हम सभी बच्चे अपनी-अपनी सीट पर बैठे सर का इंतजार कर रहे थे कि तभी एक लड़की ग्रीन टॉप और ब्लैक जीन्स में आई। पहले ही दिन वह मुझे इतनी पसंद आ गई कि मैं उस रात सो भी नहीं पाया। आंख बंद करूं तो उसका चेहरा नजर आए, आंखें खोलूं तो ऐसा लगे जैसे वह मेरे सामने खड़ी है। मैंने उसी वक्त यह तय कर लिया कि उसे ही अपनी गर्लफ्रेंड बनाऊंगा। दूसरे दिन मैंने उससे उसका नाम पूछा तो उसने ccaaa बताया। धीरे-धीरे हमारी बातचीत शुरू हो गई।

हम एक-दूसरे को मेसेज करने लगे। मेसेज में हाल-चाल से लेकर खाने तक की बातें होने लगीं। हमारी फ्रेंडशिप गहरी होती गई। मैं उसे मन ही मन चाहने लगा था, लेकिन प्रपोज करने में डरता था। उसके साथ एक साल कैसे बीत गया, पता ही नहीं चला था। अब सेकंड ईयर में हमने फिर से वही कोचिंग जॉइन की है। इस बार मैंने उसे प्रपोज करने का मन बना लिया था। मेरे प्रपोजल से पहले ही उसने बता दिया कि उसकी सगाई हो चुकी है। मेरा दिल उसी वक्त टूट गया, लेकिन फिर भी दिल ने उसे प्यार करना नहीं छोड़ा।

पहला क्रश हमेशा रहेगा याद

5. प्यार नहीं बस दोस्ती ही रही : Hindi Love Story

मैं आठवीं क्लास में पढ़ता था। मेरी क्लास में उस साल एक नई लड़की का एडमिशन हुआ। उसे देखते ही मैं अपना दिल हार बैठा। कितना अनोखा अहसास था वह। उसके सिवा और कोई ख्याल ही नहीं आता। उसका हंसना, बोलना, चलना, मुस्कुराना, सबकुछ… हां सब कुछ मेरी पसंद बनने लगा। फिर कुछ समय बाद मुझे यह अहसास हुआ कि यह एकतरफा प्यार था। उसने आठवीं और नौंवी क्लास हमारे स्कूल से की। उसके बाद पता चला कि उसने किसी दूसरे स्कूल में एडिमशन ले लिया है।

ये भी पता नहीं चल पाया कि उसका स्कूल कौन सा है। कहां तो मैं सोचने लगा था कि अब यही लड़की ज़िन्दगी भर मेरे साथ होगी। लेकिन यह रिश्ता इतना कमज़ोर भी हो सकता है और वक्त के थपेड़ों के साथ बिखर भी सकता है, मैंने नहीं सोचा था। मेरी पूरी शख्सियत पर इस घटना का काफ़ी असर पड़ा। न पढ़ाई में मन लगता और न दोस्तों के साथ मौज मस्ती करने का मन करता। लेकिन, उस दिन तो मेरी खुशी का ठिकाना न रहा, जब हमारे 10वीं बोर्ड का एग्जाम सेंटर एक ही स्कूल में पड़ा। अलग अलग स्कूल से बच्चे आए हुए थे और हम पहले से एक दूसरे को जानते थे।

एग्जाम खत्म होने का वक्त आ गया था। मैं सोचने लगा कि अब ये फिर से दूर चली जाएगी। तो प्यार के बारे में तो बाद में कहता रहूंगा, अभी फिलहाल इसे अभी दोस्ते बना लेता हूं। ताकि एक दूसरे से कॉन्टेक्ट में तो रहें। मैंने कहा, मुझसे दोस्ती करोगी। उसने मेरा ऑफर आसानी से मान लिया। आज 14 सालों बाद भी हम केवल दोस्त ही हैं। मेरी शादी दो साल पहले हुई और अब उसकी भी हो चुकी है। Real love story Hindi

 

Leave a Comment